Diabetes-शुगर को Control करने के रामबाण घरेलु नुष्खे

आजकल लगभग हर कोई Diabetes-शुगर से परेशान हैं। यह एक ऐसी बीमारी हैं, जो खून में अचानक से शुगर लेवल को बढ़ा देती है। जिससे शरीर में पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन बनना बंद हो जाता और ब्लड शुगर लगातार बढ़ता जाता है।

यह बहुत ही गंभीर समस्या हैं क्योंकि अगर शुगर के रोगी को कोई घाव लग जाए तो वह जल्दी से नहीं भरता। यह आपके लाइफस्टाइल पर निर्भर करता हैं। यदि आपका लाइफस्टाइल सही नहीं हैं, तो आप को कभी भी मधुमेह हो सकता हैं।

Diabetes-शुगर को Control करने के घरेलु नुष्खे

कई बार शुगर हमारे genes के वजह से भी हो जाता है. अगर हमारे माता-पिता या परिवार में किसी को डायबिटीज है तो हमे भी होने के chances बढ़ जाते हैं.

शुगर के रोगियों को दवाईयों और टीकों के सहारे रहना पड़ता है, कुछ रोगी मधुमेह की दवाई लेने के बाद भी ब्लड शुगर कंट्रोल नहीं रख पाते और शुगर का लेवल बिगड़ने से शरीर को बहुत नुकसान हो सकता हैं।

अगर सही समय पर डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया गया तो नर्व डैमेज, किडनी फेलियर, हार्ट अटैक जैसी कई जानलेवा बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।

डायबिटीज के रोगियों के लिए ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करना बहुत जरूरी होता हैं।

इसलिए आज हम इस post में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में करने के लिए कुछ घरेलू उपायों के बारे में बताएँगे. लेकिन उससे पहले ये समझ लेते हैं की शुगर क्या होता है.

Diabetese kya hota hai (डायबिटीज क्या है?)

जब इन्सुलिन की कमी के कारण शरीर में ग्लूकोस की मात्रा बढ़ जाती है तो उस स्थिति को Diabetes (शुगर) या मधुमेह कहा जाता है. insulin एक प्रकार का हार्मोन होता है, जो पाचन ग्रंथि के द्वारा बनता है. ये शरीर के अंदर भोजन को उर्जा में बदलने का काम करता है.

इसके साथ ही इन्सुलिन हमारे शरीर में शुगर की मात्र को कंट्रोल करने में भी मदद करता है. जब डायबिटीज होता है तो हमारे शरीर को भोजन से उर्जा बनाने में परेशानी होती है. ऐसे में ग्लूकोस का बढ़ा हुआ स्तर शरीर के अंगों को धीरे-2 क्षति पहुचाना आरम्भ कर देता है.

Diabetes hone ke karan (मधुमेह होने के कारण)

डायबिटीज होने के कुछ मुख्य कारण इस प्रकार है:

  • अधिक मात्रा में मीठा खाना
  • शरीर में पानी की कमी
  • अत्यधिक मोटापा
  • Gene/वंशानुगत के कारण
  • नींद की कमी
  • मसालेदार और जंक फ़ूड का ज्यादा सेवन

Diabetes k symptoms in hindi (शुगर के लक्षण)

अगर किसी को शुगर है तो उसमे निम्नलिखित लक्षण दिख सकते हैं.

  • ज्यादा प्यास लगना
  • बार-2 पेशाब आना
  • किसी भी चोट का जख्म का देरी से ठीक होना
  • शरीर में अत्यधिक खुजली और जख्म होना
  • आँखों की रोशनी कम होना
  • अत्यधिक चिड़चिड़ापन या गुस्सा आना
  • चक्कर आना
  • ज्यादा थकावट महसूस होना
  • वजन कम होना
  • भूख ना लगना

Diabetes-sugar control karne ke gharelu upay

  1. सैर करना (Morning/Evening Walk)

शरीर को स्वस्थ व फिट रखने के लिए सुबह-शाम सैर करना हमारी सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। डायबिटीज के रोगियों को डॉक्टर भी सुबह शाम सैर करने की सलाह देते हैं। पैदल चलना हमारे शरीर के लिए किसी भी एक्सरसाइज़ से ज़्यादा फायदेमंद होता हैं। जब भी मौका मिले हमें थोड़ा पैदल जरूर चलना चाहिए।

सुबह की सैर के बाद ब्लड शुगर लेवल में कमी आती है। जो लोग रोज़ पैदल चलते हैं उनके शरीर में ग्लूकोज की मात्रा, दौड़ने वालों की तुलना में 6 गुना ज्यादा होता है, इससे डायबिटीज़ का खतरा कम होता है। इसलिए आपको रोज सुबह और शाम एक घंटे की सैर जरूर करनी चाहिए

  1. करेला (Bitter gourd for sugar)

करेला स्वाद में भले ही कड़वा होता हैं, लेकिन हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता हैं। मधुमेह में हाई ब्लड शुगर को कम करने के लिए करेला एक रामबाण औषधि हैं। करेले के अनेकों फायदे हैं। यह हमारे शरीर में कफ, कब्ज और पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करता है।

इसमें एंटीऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो मधुमेह को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं।  करेले का जूस रक्त में शुगर लेवल की मात्रा को कम करता है। डायबिटीज रोगी को रोज करेले का जूस या इसकी सब्ज़ी का सेवन करना चाहिए। यह Diabetes से लड़ने में सहायता करता हैं।

  1. मखाना (Fox Nut for diabetes)

मखाना शुगर के लिए बहुत ही लाभकारी हैं। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट, हेल्दी फैट, सोडियम, फॉस्फोरस, आयरन, कैल्शियम, और विटामिन-बी जैसे कई अन्य पोषक तत्व होते हैं। यह शरीर में इंसुलिन बनाने लगता हैं और ब्लड में शुगर की मात्रा कम होने लगती हैं।

मखाने खाने के और भी कई फ़ायदे है यह ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के साथ कब्ज, और दिल से संबंधित समस्या भी दूर करता हैं।  रोज सुबह खाली पेट मखाने के चार पांच दाने खाएं । इसके लगातार सेवन से कुछ दिनों में diabetes धीरे धीरे कम हो जाएगा।

  1. जामुन (sugar mein jamun ke fayde)

जामुन मधुमेह के रोगी के लिए एक महत्वपूर्ण औषधि हैं। ये एक ऐसा फल हैं, जिसका गुठली, रस और गूदा सभी मधुमेह में बेहद फायदेमंद होता हैं। Jamun के पत्ते, बीज और फल इन सभी को शुगर का इलाज करने में उपयोग किया जाता हैं।

Jamun के बीजों में जम्बोलिन और जंबोसिन तत्व पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर में शुगर की मात्रा को कम करता हैं। जिससे diabetes कंट्रोल करने में मदद मिलती हैं।

मधुमेह रोगी को जामुन का सेवन जरूर करना चाहिए। जामुन की गुठली को सूखा कर एकत्रित कर लें। फिर गुठली को पीस कर बारीक चूर्ण बनाकर रख ले और दिन में दो-तीन बार, पानी के साथ सेवन करने से ब्लड में शुगर की मात्रा कम हो जाएगी।

  1. दालचीनी (Cinnamon)

दालचीनी सिर्फ मसाला ही नहीं बल्कि अपने स्वास्थ्य लाभों और औषधिएं गुणों के लिए भी जानी जाती हैं। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-डायबिटिक पोषक तत्वों के साथ कैल्शियम और फाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं।

ये ब्लड शुगर को कम कर डायबिटीज को नियंत्रित करती हैं. यह न सिर्फ ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करती है बल्कि कोलेस्ट्रॉल लेवल और पाचन तंत्र को ठीक बनाती हैं। 1 कप पानी में दालचिनी पाउडर को उबालें और छानकर रोज सुबह पिएं। इसके अलावा आप चाय में भी  थोड़ी सी दालचिनी डालकर पी सकते हैं।

  1. मेथी दाना (Fenugreek Seeds)

मेथीदाना मधुमेह के उपचार के लिए सबसे अच्छा उपाय हैं। इसमें अमीनो एसिड्स भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो रक्त में ग्लूकोज को कम और डायबिटीज को नियंत्रित करने का काम करते हैं। मेथी दाने का सेवन ब्लड शुगर लेवल और शरीर में फैट को कंट्रोल करने में भी मदद करता हैं।

मेथी के दानें को रातभर एक गिलास गर्म पानी में भिगोकर रखें और सुबह उठकर खाली पेट इस पानी को पिए और मेथी के दानों को चबा लें। आप दिन में 1 बार मेथी के दानों का सेवन कर सकते हैं इसके अलावा आप मेथी दाने पाउडर का भी सेवन कर सकते हैं। रोज इसका सेवन करने से डायबिटीज से बचाव होता हैं। येमधुमेह रोगियों के लिए रामबाण के जैसे काम करता है.

sugar disease in hindi

तो दोस्तों यहाँ हमने डायबिटीज को कंट्रोल करने के कुछ घरेलु उपायों के बारे में बताये हैं जिनके उपयोग से आप शुगर जैसे गंभीर समस्या से बाख सकते हैं.

अगर आपको भी शुगर की शिकायत है तो उपरोक्त बताये हुए नुस्खों के अलावा आप तनाव मुक्त रहें, खूब पानी पिएं, धुम्रपान और शराब का सेवन बंद कर दें, कम कैलोरी वाला भोजन ही खाएं, मीठे को खाना बिलकुल बंद कर दें, सब्जियां, ताज़े फल, साबुत अनाज, डेयरी उत्पादों, फाइबर और ओमेगा-3 वसा के स्रोतों को अपने भोजन में जरूर शामिल करें.

इसके अलावा अपने डाइट में बादाम, लहसुन, प्याज, अंकुरित दालें, अंकुरित चना, सत्तू और बाजरा आदि जरूर शामिल करें और आलू, चावल और मक्खन का बहुत कम उपयोग करें.

अगर आप मधुमेह से ग्रसित हैं तो नियमित रूप से अपने स्वस्थ की जांच जरूर कराते रहें, अपने शुगर लेवल को रोजाना चेक करते रहें ताकि वो बढे ना.

और अंत में एक और महत्वपूर्ण बात आपको जब भी कोई गंभीर समस्या या बिमारी हो तो आप सबसे पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले.

ये पढ़ें

प्लेटलेट्स बढाने के घरेलु उपाय

पाचन शक्ति कैसे मजबूत करें

साइनस को जड़ से ख़त्म करने के घरेलु उपाय

नींद ना आने की समस्या का घरेलु उपाय

Spread the love

Leave a Comment

error: