SEO In Hindi-SEO क्या है और कैसे करते हैं?

अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो आपने SEO के बारे में जरूर सुना होगा। लेकिन बहुत सारे नए bloggers को पता नहीं होगा की SEO In Hindi-SEO क्या है और कैसे करते हैं?

इसलिए आज हम इस ब्लॉग में जानेंगे की SEO क्या है, और SEO Kaise Kare और इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको पता चल जायेगा की एक ब्लॉगर के लिए SEO के बारे में पूरी जानकारी होना कितना महत्वपूर्ण है।

SEO Kya Hota Hai - What is SEO in Hindi

SEO In Hindi-SEO क्या है और कैसे करते हैं?

SEO का सीधा सम्बन्ध सर्च इंजन से होता है। ये एक प्रकार का Term है। जो हमारे वेबसाइट को सर्च इंजन में टॉप पर रैंक कराने में मदद करता है।
ब्लॉगर्स अपने कंटेंट सर्च इंजन के हिसाब से लिखते हैं। ताकि सभी सर्च इंजन को हमारा बनाया हुआ कंटेंट समझ आये और उनपर जो विज़िटर्स हमारा ब्लॉग पढ़ने आये उनको ब्लॉग पढ़ने में आसानी हो और समझ में भी आये।

इन सब चीजों को ध्यान में रखते हुए जो कंटेंट लिखने या ऑप्टिमाइजेशन करने की प्रक्रिया होती है उसे SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) कहते है।

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए वो वेबसाइट या ब्लॉग ठीक ढंग से Optimize होना चाहिए. तभी गूगल या कोई भी सर्च इंजन आपके ब्लॉग को रैंक कराएगा और उसपर organic traffic आएगी। लेकिन आपका ब्लॉग और कंटेंट भी हाई क्वालिटी का होना चाहिए।

अगर आप SEO के सारे rules को अच्छे से follow करते हैं और अच्छा कंटेंट लिखते हैं तो आपका ब्लॉग जरूर रैंक करेगा।

SEO का full form क्या है

SEO का फुल फॉर्म होता है “Search Engine Optimization” (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन)

Search Engine क्या है- What is Search Engine

सर्च इंजन एक प्रकार का algorithm है। ये इंटरनेट पर हमारे द्वारा सर्च की गयी जानकारी का सही उत्तर या इनफार्मेशन देने का कार्य करता है। ये अपने डेटाबेस में मौजूद जानकारी में से हमारे लिए वांछित जानकारी ढूंढने का कार्य करता है।

किसी भी Page को search Result में Top पर लाने के लिए seo की बहुत बड़ी भूमिका होती है। google,Yahoo, Bing, Yandex के कुछ प्रसिद्ध search engine है।

SEO कितने प्रकार के होते है – Types of SEO

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग पर हम मुख्यतः दो प्रकार से ऐसइओ कर सकते है।

1. On Page SEO
2. Off Page SEO

1. On Page SEO

अपनी वेबसाइट पर हम जो भी काम करते हैं. जैसे ब्लॉग post, blog का डिजाईन या उसे optimize करके उसे SEO फ्रेंडली बनाना on-page-seo कहलाता है.

इसके अंदर हम अपने वेबसाइट के सभी pages और पोस्ट को सर्च इंजन के अनुसार optimize करते है. और कीवर्ड का सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं. ऐसा करने से हमारे ब्लॉग पर organic traffic आती है.

अगर हम सही ढंग से keywords का इस्तेमाल करते हैं तो जब भी कोई उन keywords को सर्च करते है तो हमारा ब्लॉग पहले नंबर पर आता है. जिससे हमारे ब्लॉग को आर्गेनिक ट्रैफिक मिलती है.

किसी भी सर्च इंजन पर जब कोई keyword search करके direct आपकी website पर आता है तो उसे organic traffic कहते हैं.

On page SEO कैसे करते हैं.

वैसे देखा जाये तो On Page SEO के बहुत सारे facts होते है जिनकी help से आप अपनी website को on page के लिए optimize कर सकते है.

पर मैं यहाँ इसके कुछ common factor बताने वाला हूँ जिनको ध्यान में रखते हुए आपको अपने post को सर्च इंजन के लिए optimize करना है.

  • Keyword रिसर्च

ऑन पेज एसईओ में सबसे पहला और महत्वपूर्ण काम कीवर्ड रिसर्च का होता है. कभी भी कोई आर्टिकल बिना कीवर्ड रिसर्च किये नहीं post करना चाहिए. ऐसा करने से post रैंक नहीं करता. इसलिए किसी भी आर्टिकल को लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च करना बहुत जरूरी है.

शुरुआत में आप ऐसे कीवर्ड ढूंढे जिसपर ज्यादा लोगो ने post नहीं लिखा हो. ऐसे कीवर्ड के रैंक करने की संभावना ज्यादा होती है.

  • AMP और ब्लॉग Design

आपके ब्लॉग और वेबसाइट का डिजाईन seo के लिए बहुत मायने रखता है. अपने ब्लॉग को ऐसे डिजाईन करें की जब भी कोई यूजर आपके वेबसाइट पर एक बार visit करे तो वो attract होकर बार-2 आये.

आपके साईट का डिजाईन सुन्दर और साफ़ होना चाहिए. उसका navigation एकदम clear होना चाहिए.

इसके अलावा आपका साईट AMP version में भी खुलना चाहिए. AMP यानि Accelerated Mobile Pages ये आपके website के post और pages को mobile friendly बनाता है.

क्वालिटी content के साथ वेबसाइट का डिजाईन भी बहुत महत्व रखता है. इसलिए अपने ब्लॉग को well designed और साफ़ सुथरी रखें.

  • Title और Heading Tag

टाइटल को हमेशा attractive बनाना चाहिए. सबसे महत्वपूर्ण बात title के अंदर आपके post का कीवर्ड जरूर होना चाहिए. टाइटल हमेशा ऐसा बनायें की पढने वाला उसे देखते ही उसपर क्लिक करे. ऐसा करने से आपका CTR बढेगा और आपका पेज रैंक करेगा.

आप अपने आर्टिकल में heading tag का इस्तेमाल जरूर करें और सही ढंग से करें. हमेशा H1 और H2 heading में अपने फोकस कीवर्ड का इस्तेमाल जरूर करें.

  • Internal Link और Outbound Link

एक ब्लॉग पर Internal और outbound link का बहुत महत्व होता है.

Internal Link इसमें आपको अपने ही साईट के किसी दुसरे post का link डालना होता है. जिससे यूजर आपके एक post से दुसरे पोस्ट पर आसानी से चला जाता है. जिससे आपके दुसरे आर्टिकल्स पर भी ट्रैफिक मिलता है.

Outbound Link किसी दुसरे हाई अथॉरिटी वाले वेबसाइट के ब्लॉग का link अपने post में देना outbound link कहलाता है. इसलिए अपने हर post में किसी दुसरे के ब्लॉग का एक link जरूर डालना चाहिए इससे google पर आपके वेबसाइट के लिए पॉजिटिव सिग्नल जाता है.

  • Meta Description

मेटा डिस्क्रिप्शन का आपके ब्लॉग में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होता है. meta-description में आपको अपने आर्टिकल के बारे में short डिस्क्रिप्शन लिखना होता है और इसके अंदर आपके आर्टिकल का main keywords का इस्तेमाल भी करना होता है. ऐसा करने से google में रैंक करने के chances बढ़ जाते हैं.

  • URL Structure

जितना हो सके ब्लॉग post के url को छोटा रखना चाहिए. हमेशा अपने url को छोटा रखें और उसमे फोकस कीवर्ड को जरूर डालें. ऐसा करने से post के रैंक करने के chances बढ़ जाते हैं. इससे यूजर को आपके आर्टिकल के टॉपिक को समझने में आसानी होती है.

  • Website Speed और Image Alt Tag

वेबसाइट के स्पीड का On Page SEO  में बहुत महत्व है. अगर आपके वेबसाइट की स्पीड अच्छी नहीं है तो पढने वाला आपके वेबसाइट को छोड़ कर चला जायेगा. क्यूंकि यूजर के पास अच्छे content के कमी नहीं है.

स्पीड अच्छी न होने से वेबसाइट लोड होने में समय लगाता है. जिससे यूजर irritate हो जाते हैं और आपके वेबसाइट पर दोबारा विजिट नहीं करते. इससे आपके ब्लॉग पर गलत प्रभाव पड़ता है.

इसलिए अपने वेबसाइट पर हमेशा कम साइज़ का ही इमेज डालें. क्यूंकि बड़ी साइज़ का इमेज आपके साईट को स्लो कर देता है.

किसी भी post में इमेज डालते समय उसके Alt Tag में अपना Focus-Keyword जरूर डालें.

SEO Kya Hota Hai - What is SEO in Hindi

learn seo in hindi

2. Off Page SEO

अपनी वेबसाइट या Post को search engine में Rank करने के लिए उसके link को internet पर promote करना off Page SEO कहलाता है.

जब भी किसी post को internet पर promote या शेयर किया जाता है तो सर्च इंजन को कुछ signal जाते है. जिससे उस Post की Ranking increase हो जाती है. Off Page SEO करने के बहुत सारे तरीके है.

जिनका इस्तेमाल कर के आप अपने वेबसाइट की रैंकिंग के साथ-2 ट्रैफिक भी बढ़ा सकते हैं. यहाँ पर मैंने कुछ Off Page SEO करने के मुख्य तरीके बताये हैं.

ये पढ़ें: बैकलिंक क्या है (बैकलिंक कैसे बनाते हैं).

  • Backlink बना कर

अगर आपको किसी अच्छे और High DA-PA वाली वेबसाइट से बैकलिंक मिल जाता है तो इससे सर्च इंजन के पास अच्छा सिग्नल जाता है. क्यूंकि वो वेबसाइट पहले से ही भरोसेमंद होता है. इसलिए धीरे-2 आपकी वेबसाइट भी सर्च रिजल्ट में आने लगती है और उसकी रैंकिंग भी बढ़ने लगती है.

  • Social Networking Sites

अपने ब्लॉग को प्रमोट करने और उसपर अच्छी खासी traffic पाने का सबसे अच्छा और आसन तरीका है सोशल मीडिया. इसलिए अपने ब्लॉग post को सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें. निचे कुछ मुख्य social networking sites हैं जहाँ से आप रोजाना हजारों की संख्या में ट्रैफिक पा सकते हैं.

Facebook

Twitter

LinkedIn

Pinterest

Tumblr

Reddit

  • Search Engine Submission

जब भी आप कोई वेबसाइट या ब्लॉग बनायें तो उसे सर्च इंजन जैसे : Google Search Console, Bing Webmaster, Yandex Webmaster आदि में जरूर सबमिट करें. इससे ब्लॉग की reach बढती है और ब्लॉग में ट्रैफिक आता है.

  • Question and Answering Sites

इन्टरनेट पर आपको बहुत सारे ऐसे वेबसाइट मिल जायेंगे जहाँ पर लोग question पूछते हैं और उनके answers देते हैं. इन सब में Quora सबसे popular वेबसाइट है.

यहाँ पर आप अपनी प्रोफाइल बना कर लोगों द्वारा पूछे गए questions का जवाब दे सकते हैं और उसमे अपने ब्लॉग का link डाल सकते हैं. इसके अलावा आप यहाँ post लिख कर भी डाल सकते हैं.

बहोत सारे ऐसे bloggers हैं जिनके वेबसाइट पर केवल quora से ही हजारों के संख्या में ट्रैफिक आता है.

  • Guest Posting

इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सी High Authority websites हैं जो Guest Posting एक्सेप्ट करते हैं. आप उनके लिए आर्टिकल्स लिख कर भी ट्रैफिक पा सकते हैं. आप ऐसे वेबसाइट के लिए अच्छा सा आर्टिकल लिखे और उनके साईट पर सबमिट कर दें.

अगर आपका आर्टिकल उनको पसंद आया तो वे आपके article को अपने वेबसाइट में post करते हैं और उसमे आपके वेबसाइट या ब्लॉग का link डाल देते हैं.

इससे आपको भी अच्छी खासी ट्रैफिक मिल जाती है. अपने ब्लॉग को रैंक करने का ये सबसे बढ़िया तरीका है.

  • Blog Commenting

आप किसी बड़े ब्लॉगर के post पर कमेंट कर के भी अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक ला सकते हैं. जब भी आप किसी के post पर कमेंट करें तो उसमे अपने वेबसाइट का link डाल दें. और अच्छा सा कमेंट करें.

  • Directory Submission

आप किसी भी High PR वेबसाइट में अपनी वेबसाइट को सबमिट कर के वहां से strong बैकलिंक पा सकते हैं. ऐसा करने से आपके वेबसाइट की रैंकिंग अच्छी होगी और अच्छा खासा ट्रैफिक मिलेगा.

seo kaise kare in hindi

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आपको समझ में आ गया होगा की  SEO In Hindi-SEO क्या है और कैसे करते हैं? अगर आपके मन में इस post से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट कर के पूछ या बता सकते हैं.

ये पढ़ें

ब्लॉग कैसे शुरू करें

विकिपीडिया से बैकलिंक कैसे बनायें.

Best WordPress Plugins

Spread the love

2 thoughts on “SEO In Hindi-SEO क्या है और कैसे करते हैं?”

Leave a Comment

error: