Sinus-साइनस को जड़ से ख़त्म करने के उपाय-घरेलू नुस्खे

Sinus एक बहुत ही गंभीर समस्या है। इसको अगर सही समय पर ठीक नहीं किया गया तो आगे चलकर ये बड़ी समस्या बन सकती है।

सर्दी-जुकाम की समस्या को हम छोटी सी बीमारी समझकर उसपर ज्यादा ध्यान नहीं देते। लेकिन, अगर आपको यह समस्या लगातार परेशान कर रही हैं, तो यह साइनस हो सकता हैं।

साइनस नाक का रोग हैं। बरसात और सर्दियों में यह समस्या और अधिक बढ़ जाती हैं। इससे राहत पाने के लिए कुछ लोग अंग्रेजी दवाइयों का सेवन करते हैं।

Sinus के लक्षण

साइनस के लक्षण हैं। नाक का बंद, सिर में दर्द, आधे सिर में तेज दर्द, नाक से पानी गिरना, कफ, और बलगम का बहुत ज्यादा जमा होना। इसमें रोगी को हल्का बुखार, आंखों में भारीपन, तनाव, चेहरे पर सूजन, नाक व गले में बार बार कफ जमना और गले में खराश या दर्द आदि होता हैं।

Sinus-साइनस को जड़ से ख़त्म करने के उपाय-घरेलू नुस्खे

sinus ko jad se khatam karne ke upay

नाक बंद होने पर ठीक से बात नहीं कर सकते। नाक की हड्डी बढ़ जाती हैं या तिरछी हो जाती हैं जिसके कारण सांस लेने में दिक्कत होती हैं। ऐसे में रोगी को जब भी ठण्डी हवा, धूल, और धुआँ हड्डी पर टकराता हैं, तो रोगी को छींक शुरू हो जाती हैं। नाक से पानी आने लगता हैं, और दर्द भी होने लगता हैं.

कुछ रोगियों को साइनस का ऑपरेशन कराना पड़ता हैं। ऑपरेशन होने के बाद भी नाक में कफ जमता रहता हैं, और बार-बार ऑपरेशन कराने से नाक का कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता हैं।

साइनस देखने और सुनने में छोटी सी समस्या लगती हैं, लेकिन यह बहुत गंभीर और खतरनाक बीमारी हैं। सही समय पर इलाज न करने से साइनस अस्थमा और दमा जैसी गम्भीर बीमारियों में भी बदल सकता हैं।

यहाँ हमने साइनस की समस्या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय के बारे में बताया हैं.

sinus ke liye yoga

1. योगा (Yoga)

Sinus की समस्या को दूर करने के लिए योगा प्राणायाम सबसे अच्छा उपाय हैं। नाक बंद होने के कारण सांस लेने में दिक्कत और सिर में दर्द जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं।

योगासन प्राणायाम करने से आप आसानी से साइनस में सांस ले सकते हैं, क्योंकि इससे नाक के छेद खुल जाते हैं। साइनस के रोगी को कपालभाति और अनुलोम विलोम प्राणायाम जरूर करना चाहिए।

शुरू में प्राणायाम करने में परेशानी होगी। लेकिन, लगातार अभ्यास करने से लाभ होगा। जैसे जैसे अभ्यास बढ़ता जाएगा साइनस कम होता जाएगा।

कपालभाति साइनस के साथ साथ हमारे दिमाग के लिए भी बेहद जरूरी हैं। इस आसन को करने से हमारी याद्दाश्त बढ़ती हैं, और श्वसन प्रक्रिया में आने वाली बाधा भी दूर होती हैं। इसे रोज 10 मिनट करने से ही कई तरह की शारीरिक समस्याओं से छुटकारा मिल सकता हैं।

  • अनुलोम विलोम (Anulom Vilom)

सांस लेने की सबसे अच्छी प्रक्रिया अनुलोम विलोम हैं। इससे नाक साफ हो जाती हैं, और Sinus की समस्या से आराम मिलता हैं। इस आसन को करने से दिमाग तक खून का प्रवाह भी अच्छे से होता हैं।

sinus ko jad se khatam karne ke upay

2. अदरक (Ginger)

भारत में लगभग सभी रसोई में अदरक का इस्तेमाल किया जाता हैं। अदरक गुणों से भरपूर औषधि हैं। सर्दी-खांसी, पाचन, सांस से जुड़ी समस्याएं, छोटी-छोटी बीमारियों से लेकर कैंसर, ह्रदय रोग और मधुमेह जैसे रोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए अदरक बहुत फायदेमंद हैं।

इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल, विटामिन और मिनरल पाए जाते हैं। अदरक बंद नाक को खोलने में मदद करती है और अंदर से कफ को साफ करती हैं। आप अदरक को चाय में डाल कर पी सकते हैं।

इसके अलावा एक कप पानी में अदरक के टुकड़ा को उबालकर फिर उस पानी को छानकर भी पी सकते हैं आपकी नाक तुरंत खुल जाएगी।

3. लहसुन (Garlic)

लहसुन खाने के स्‍वाद को बढ़ा देता हैं, पर कच्चा लहसुन हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं। साइनस को दूर करने के लिए लहसुन घरेलू उपचार हैं। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटी ऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो हमारे शरीर में औषधि की तरह काम करते हैं।

यह सर्दी जुकाम, खांसी, अस्थमा, निमोनिया, और कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों के दूर करता हैं। कच्चा लहसुन शरीर से बलगम को बाहर निकालने में मदद करता हैं, और साथ ही सांस की नली, फेफड़ों को साफ करता हैं।

लहसुन खाने के और भी अनेक फायदे हैं। यह पाचन तंत्र और इम्यूनिटी को मजबूत करता हैं। रोज कच्चे लहसुन का सेवन जरूर करे।

sinus ko kaise khatam kare

4. प्याज (Onion)

बिना प्याज के रसोई अधूरी हैं। प्याज में एंटीसेप्टिक, एंटी ऑक्सीडेंट गुण के साथ आयरन, कैल्शियम, मैनीशियम, विटामिन और सल्फर पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। जो हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी हैं।

कच्चा प्याज साइनस, कैंसर, दिल, आंख, और थाइरॉयड आदि जैसी कई गंभीर बीमारियों को ठीक कर सकता हैं। प्याज के रस में थोड़ा शहद मिलाकर कर पीने से जमा कफ निकल जाता हैं। Sinus के लिए प्याज को दो तरह से इस्तेमाल किया जा सकता हैं।

  • प्याज को काटते समय उसे सीधे सूंघकर उससे भी साइनस में आराम मिलता हैं।
  • गर्म पानी में प्याज के रस को मिलाकर उसे उबाले फिर उस पानी से भाप लेने से बंद नाक खुल जाती हैं और दर्द भी कम हो जाता हैं।

5. हल्दी (Turmeric)

हल्दी खाने का स्वाद और रंग रूप दोनों को बढ़ा देती हैं, साथ ही कई तरह के रोगों से भी हमारी रक्षा करती हैं। हल्दी सांस संबंधी रोग जैसे साइनस, दमा, और जमें हुए कफ की समस्याओं के लिए रामबाण इलाज हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं, जो साइनस इंफेक्शन को कम करने में मदद करते हैं और बलगम को दूर करते हैं।

1 गिलास दूध में 1 छोटा चम्‍मच हल्‍दी और 1 छोटा चम्‍मच शहद मिला कर 2 से 3 हफ्ते लगातार पीने से साइनस की समस्या में राहत मिलेगी। कच्ची हल्दी की तासीर गर्म होती हैं।

कच्ची हल्दी को गर्म दूध में मिलाकर पीने से शरीर को गरमाहट मिलती हैं। फेफड़े तथा Sinus की समस्या दूर होगी और साथ ही अन्य बैक्टीरियल और वायरल संक्रमणों से लड़ने में मदद भी मिलेगी।

sinus ke gharelu nuskhe

6. भाप (Steam)

Sinus के दर्द का सबसे आसान व घरेलू उपाय हैं, स्टीम यानी (भाप)। साइनस में डॉक्टर भाप लेने की सलाह देते हैं। क्योंकि भाप नाक के छेद को खोल कर जमे हुए कफ व बलगम को बाहर निकाल में मदद करती हैं।

स्टीम लेने के लिए सबसे पहले एक बर्तन में पानी डालकर उसे उबालें। अब उस बर्तन के उपर अपना मुंह रखे और पानी से थोड़ी दूरी बनाए रखें ताकि आप जल न जाएं। इसके बाद आप अपने सिर के ऊपर तौलिया रखें। नाक से सांस अंदर लेने की कोशिश करे।

धीरे धीरे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और जमा कफ भी बाहर आने लगेगा। कम से कम 10 मिनट तक भाप ले और स्टीम के दौरान नाक साफ़ करते रहे। साइनस की समस्या दूर हो जाएगी।

7. निम्बू (Lemon)

वैसे तो निम्बू के सैकडों फायदे हैं, इसमें विटामिन C पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. लेकिन lemon साइनस जैसे गंभीर समस्या में भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है.

एक गिलास पानी में एक निम्बू निचोड़कर उसमे एक चम्मच शहद मिलाएं. इसे दो तीन हफ़्तों तक रोज सुबह पिएं. ऐसा करने से साइनस के दर्द से निजात मिलता है. इसके अलावा ये पेय पीने से नाक की नली भी साफ़ होती है.

8. मेथी दाना (Fenugreek Seed)

अपने औषधीय गुणों से सर्वोपरि मेथी दाना Sinus में भी बहुत लाभदायक होता है. ये सांस सम्बन्धी बीमारियों, सर्दी जुकाम, खांसी, बुखार आदि में बहुत फायदेमंद होता है.

एक बर्तन में एक गिलास पानी लें उसमें तीन चम्मच मेथी के दानें डाल कर 10 मिनट तक धीमी आंच पर उबालें. उसके बाद उस पानी को दिन में दो से तीन बार पियें. आप एक सप्ताह तक लगातार इस पानी का सेवन करें. ऐसा करने से आपको साइनस में बहुत ज्यादा आराम मिलेगा और ये समस्या भी धीरे-2 दूर हो जाएगी.

sinus ke gharelu upay

तो दोस्तों ये थे Sinus को ठीक करने के कुछ घरेलु उपाय. जिनके उपयोग से आप साइनस जैसे गंभीर समस्या से निजात पा सकते हैं.

अगर आपको कोई गंभीर समस्या है और घरेलु नुस्खों से आराम नहीं मिल रहा तो बिना डॉक्टर के सलाह के कोई उपचार ना करें. समस्या गंभीर होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये पढ़ें

नींद ना आने की समस्या Insomnia के घरेलु उपाय

प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए

पेट की चर्बी कम करने के उपाय

दिमाग तेज़ करने के लिए ये 7 चीजें जरूर खाएं

Spread the love

Leave a Comment

error: